April 2, 2020

विदूषक चिकित्सक।


आपने सुन ही रखा होगा। ऐसे निष्णात विदूषक जिनका कार्य चिकित्सालयों में जाकर रोगियों को हँसाना है। ऐसा विश्वास किया जाता है कि उनके इस कार्य से रोगी का मन प्रसन्न होता है। रोगी में आशाओं का संचार बढ़ता है।

कुछ देशों में ऐसे पेशेवर अलग से नहीं होते हैं।

उन देशों में हर व्यक्ति विदूषक चिकित्सक होता है। वह चाहे मंत्री है, वकील है, कॉलेज का प्रोफ़ेसर है, असल का चिकित्सक है, दुकान वाला है, मिस्त्री है, हम्माल है या इसी तरह कुछ भी है। मगर वह विदूषक चिकित्सक है।

पूरा देश युद्ध और आपदाओं में चुटकुले बनाता है।

अक्ल के हवाई जहाज दुनिया को जानने की दौड़ में नष्ट होते रहते। मूर्ख की नाव अज्ञान की गंगा में सुख के मीठे हिलकोरे खाती हुई बहती है।

साधु-साधु।
* * *


पेंटिंग विजेंदर शर्मा की है।

सर्द रात

एक सस्ती सराय के कमरे में रात दूसरा पहर ढल गया था। मेज़ पर मूंगफली और निचुड़े नींबू पड़े थे, वह सो चुका था।  लिफाह बेहद ठंडा था। ओलों के गिरने ...

Hathkadh । हथकढ़

हथकढ़, कच्ची शराब को कहते हैं. कच्ची शराब एक विचार की तरह है. जिसका राज्य तिरस्कार करता है. इसे अपराध की श्रेणी में रखता है. राज्य अपने जड़ होते विचारों के साथ जीने की शर्तें लागू करता है. मेरे पास विचार व्यक्त करने का कोई अनुज्ञापत्र नहीं है. इस ब्लॉग पर जो लिखता हूँ, वह एकदम कच्चा और अनधिकृत है. मेरे लिए ये नमक का कानून तोड़ने जितना ही अवैध है.