May 25, 2020

तुम्हारे इंतज़ार में - 2


कमलदल से भरे
तालाब के किनारे बैठी नायिका
सहसा लजा गई।
कि हवा के चूमने से
फूल लरज़ कर सहम गया।
अभी-अभी देखा एक चुम्बन
जड़ों तक उतर गया
जैसे कभी-कभी न मिल पाने की बेकसी
आत्मा तक उतरती है।
______
कुछ तस्वीरें बेसबब, कुछ ख़त उसके नाम।
Image may contain: के सी, sitting

Comments


No comments:

सर्द रात

एक सस्ती सराय के कमरे में रात दूसरा पहर ढल गया था। मेज़ पर मूंगफली और निचुड़े नींबू पड़े थे, वह सो चुका था।  लिफाह बेहद ठंडा था। ओलों के गिरने ...

Hathkadh । हथकढ़

हथकढ़, कच्ची शराब को कहते हैं. कच्ची शराब एक विचार की तरह है. जिसका राज्य तिरस्कार करता है. इसे अपराध की श्रेणी में रखता है. राज्य अपने जड़ होते विचारों के साथ जीने की शर्तें लागू करता है. मेरे पास विचार व्यक्त करने का कोई अनुज्ञापत्र नहीं है. इस ब्लॉग पर जो लिखता हूँ, वह एकदम कच्चा और अनधिकृत है. मेरे लिए ये नमक का कानून तोड़ने जितना ही अवैध है.